Nrega और Manrega की जानकारी

Nrega के बारे में बहुत से लोग जानते होंगे या नहि जानते हैं तो इस आर्टिकल में इसी के बारे में बताने वाले हैं. ऐसे तो बहुत सी योजनाये हैं जो भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही हैं इन्ही में Mgnrega भारत सरकार के द्वारा चलायी जा रही योजनायों में प्रमुख है. आईये जानते हैं इसके बारे में कुछ विस्तार से.

Mgnrega स्कीम क्या है?

मनरेगा स्कीम भारत द्वारा चलायी जा रही सभी योजनाओं में से एक है. इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार लोगो को रोजगार मुहैया कराती है. ये भारत सरकार द्वारा लागु की गयी रोजगार गारंटी योजना है. सुरु में इसे रास्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी के अंतर्गत nrega लागु किया गया था जिसे बाद में २ अक्टूबर २००९ में इसका नाम बदल कर महात्मा गाँधी रास्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी रख दिया गया.

मनरेगा के अंतर्गत कौन कौन से कार्य आते हैं?

भारत की अधिकांश जनसँख्या गाँव में बस्ती है. गाँव में लोगो को रोजगार नहीं मिल पाता है. कुछ लोग खेती से अपना गुजरा कर लेते हैं. लेकिन अधिकांश लोग कमाने के लिए सहर की तरफ पलायन करने लगते हैं. यही कारन है की भारत सरकार ने इस पलायन को रोकने के लिए Mgnrega स्कीम की सुरुवात की. इस स्कीम का लाभ उन लोगो को मिल जाता है और उनके लिए अच्छा रहता है जो अपने गाँव में ही रहके कुछ करना चाहते हैं.

सरकार इस काम को निचे दिए गए कार्यों के रूप में लेती है

  • भूमि विकास
  • बाढ़ नियंत्रण
  • लघु सिंचाई
  • जल संरक्षण
  • ग्रामीण सम्पर्क मार्ग निर्माण
  • बागवानी
  • सूखे की रोकथाम के अंतर्गत वृक्षारोपण
  • विभिन्न तरह के आवास निर्माण

मनरेगा का पूरा नाम क्या है बताइए?

Mgnrega का पूरा नाम -The Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act. हिंदी में इसका नाम महात्मा गाँधी रास्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना है. इस समय इस योजना का लाभ गरीब और बेरोजगार लोगो को सीधे तौर पे हो रहा है.

मनरेगा की शुरुआत कहाँ से हुई?

नरेगा (Nrega) स्कीम को २ अक्टूबर २००५ में अमल में लाया गया था. भारत देश में इसकी सुरुवात पहले २ फेब्रुअरी २००६ को आंध्रप्रदेश के एक गाँव से हुई थी. जो आगे जाके पुरे भारत में ये योजना लागु हो गयी. १ अप्रैल २००८ को इस योजना को पुरे भारत में लागु कर दी गयी.

Leave a Comment