एक बार एक राजा ने एलान किया की जो भी समाज के विकास के लिए सबसे अच्छी बात रखेगा या सही जानकारी देगा उसको इनाम में Diamond ring दी जाएगी. ये बात सुनकर पुरे नगर में इसी की चर्चा होने लगी. सभी अपने अपने तरीकों से अपनी बात रखने के बारे में गहन विचार करने लगे. सभी लोगों के मन में बस यही विचार चल रहे थे की कौन सी एस योजना के बारे में बताया जाये जिससे महाराज खुश होकर हीरे की अंगूठी इनाम में दे.

Diamond Ring

कोई सोचता की हमर ऐडा सबसे बेहतर है मै ही diamond ring जीतूँगा. लोगो एक दुसरे से बात भी नहीं कर रहे थे उतना की कोई उनकी बात न जन जाये और इनाम की राशी वो जित ले. राजा ने लोगो को एक महीने की मोहलत दिया था और बोला था एक महीने के अन्दर जबाब चाहिए. जिसकी पहल अच्छी होगी. उसको इनाम भी दिया जायेगा और उस योजना को उसके नाम से जारी किया जायेगा. लोगो को अंगूठी से ज्यादा अपने नाम की ख्वाईश थी.

Diamond Ring

धीरे धीरे एक महिना बिताने लगा. लोग की उत्सुकता काफी बड गयी. आखिर Diamond Ring जितने का और नाम कमाने का अच्छा मौका था. ये मौका कोई खोना नहीं चाहता था. सभी चाहते थे की मै जीतू राजा को मेरी बाते अच्छी लगे. उत्सुकता लोगो की बड़ती जा रही थीं. हर कोई एक दुसरे से पुच रहा है की तुमने क्या सोचा है लेकिन सभी एक दुसरे को घुमा के बाते करते की कोई उनकी बात ना जान जाये.

एक महीने पुरे हो गए राजा के महल के बहार लोगों का हुजूम सा लग गया. राजा भी आश्चर्य चकित हो गया की इतनी भीड़ तो जंग के समय भी नहीं होती जब हम एलोगो की जरुरत रहती है. लेकिन आज इनाम जितने के लिए इतनी भीड़. राजा भी सोच में पड़ गया की इतने लोगो की बात कैसे सुनी जाये. तब राजा ने एक उपाय सोचा की जब लोग इसके लिए इतने तत्पर हैं तो इनका सही जगह उपयोग किया जा सकता है.

राजा ने सभी लोगों के सामने ये घोसरा कर दी की लोगों का हुजूम देख के बहुत अच्छा लगा. वो भी एक नेक कम के लिए. राजा ने कहा इतनी संख्या होने के वजह से इनाम और प्रतिस्पर्धा में थोडा और सुधर किया गया है. क्योकि मुझे उम्मीद नहीं थी की इतने लोग इस स्पर्धा में रूचि रखेंगे. इसलिए इतनी ज्यादा संख्या होने के वजह से इनाम और सर्तों में भी बदलाव किया गया है. मैंने सोचा है की क्यों न इनाम को और बढाया जाये और थोडा सुधर भी किया जाये.

इनाम की नयी घोसरा

राजा ने नया एलान किया की अब इनाम एक लोगो को नहीं बल्कि १०० लोगो को चुना जायेगा और Diamond Ring के साथ साथ नौकरी भी दी जाएगी. नौकरी के समय एक अच्छी सैलरी भी मिलेगी. सैलरी के साथ साथ परिवार के रहने के लिए एक एक मकान भी दिया जायेगा. सभी लोगो के विचारों में से केवल १०० लोगों के विचारों को चुना जायेगा और उसको अमल में लाया जायेगा. लेकिन इसके लिए एक बड़ी सरत राखी गयी है. आप लोगों को २ महीने का और समय दिया जा रहा है. आप्प लोगों के विचार आप लोगों के ही लिखित भासा में होनी चाहिए. मतलब की आपको लिखना भी आना चाहिए.

राजा ने सोचा अगर ऐसा किया जाये तो लोगों के मन में शिक्षा के प्रति और भी भावना उतपन्न होगी. ओग पड़ने में भी रूचि रखेंगे. राजा की इन बैटन का लोगों पे काफी असर पड़ा सभी लोग और भी इंटरेस्ट रखने लगे. लोगों के मन भी एक और अलग विचार पैदा हो गया की इनाम में Diamond Ring के साथ साथ महाराज नौकरी और परिवार के लिए घर भी देंगे. सभी लोगों के मन में एक सपना सा बस गया.

सभी लोग सोचने लगे की १०० लोगों में उनका भी नाम आ जाये जिसके बाद उनका भी भविष्य बदल जायेगा. इनाम के साथ साथ नौकरी भी मिल जाएगी. लोगों ने पड़ी की प्रति अपनी रूचि बड़ा दी अपने बच्चों को भी पड़ी के प्रति प्रोत्साहित करने लगे. राजा ने नागरिकों के पढाने किये लिए शिक्षक उपलब्ध करा दिए. सभी लोग पड़ी में और भी रूचि रखने लगे.

ये भी पड़ें

Diamond Ring और नौकरी पाने का मौका

दो महीने बिट गए जनता ने अपने अपने विचार और अपने नाम लिख के राजा को दे दिए. राजा ने सभी लोगों के सामने एक सवाल किया की इतनी जनता में कितने लोगो को पड़ने लिखने आ गया. पूरी जनता में लगभग ७५ फीसदी लोगों ने हाथ खड़े कर दिए. राजा ने कहा इस पुरे प्रान्त में अब हमारे नगर के लोग सबसे ज्यादा शिक्षित हो गए हैं. मुझे बहुत ख़ुशी हो रही है और दुःख भी हो रहा है की सायद ये कम और पहले करना चाहिये था.

जनता में भी एक नया जूनून पैदा हो गया कुछ और करने का अपने जीवन में. राजा ने १०० लोगों को चुना उन्हें इनाम में Diamond Ring, नौकरी और घर दिए. लोग काफी खुश दिखे. राजा ने तभी और भी एलान किया की. इसी तरह हर साल ऐसी योजना लायेंगे और अगली बार २०० लोगों को चुना जायेगा इसलिए आप लोग म्हणत करिए शिक्षा पे ध्यान दीजिये. इस तरह कुछ ही वर्षों में राजा का वह नगर पुरे प्रान्त में सबसे विकसित और सबसे ज्यादा शिक्षित प्रान्त बन गए. लोग खुशाल रहने लगे.

लोग शिक्षित हो गए जिसकी वजह से उनकी मांग दुसरे प्रान्त में भी बढाने लगी. रोजगार की उत्पत्ति भी होने लगे जिससे लोगों को रोजगार भी मिलाने लगा. लोग अपने परिवार के साथ खुशहाल जिंदगी जीने लगे. लोगो ने शिक्षा के बल पे ही नयी नयी तकनीकों पे काम करने लगे जिससे एक नया स्किल डेवेलप होने में आसानी होने लगी.

कहानी से सिख

राजा की सुझबुझ और अपने सही विचार से जनता को प्रोत्साहित किया और लोगो को जागरूक किया. अगर आपको ये कहानी पसंद आई हो तो दूसरों को भी शेयर करे ताकि ऐसी कहानियों से लोगों को अच्छी सिख मिल सके. हम अपने इस ब्लॉग में कहानी इन हिंदी में ऐसी ही नयी नयी कहानियां लेट रहते हैं. ऐसी कहानियां केवल इसी प्लेटफार्म पे मिलेंगे. अपनी रे जरुर कमेंट बॉक्स में रखे. जिसके कमेंट अच्छे लगेंगे उन्हें हम जरुर अमल में लायेंगे.