kahani in hindi

Kahani in Hindi – हिंदी कहानियों का एक अनोखा संग्रह

सभी कहानियां किसी न किसी से जुडी ही होती हैं. चाहे कहानियों को मानव कल्पना के हिसाब से दरसाया जाता हो या एक सच्ची घटना को दर्शाता हो. कुछ कहानियां तो ऐसी होती हैं जिनसे मानव कुछ सिख सकता है और उनसे प्रेरणा ले सकता है. इसमे हम सभी प्रेरणादायक कहानियों को Kahani in Hindi में दरसाने वाले हैं.

बहुत से लोगों ने कहानियों से सिख लेके अपने जीवन को बदला है. मानव हर दिन कुछ न कुछ सीखता ही रहता है कहानियां भी ऐसी ही होती हैं जिनसे हम बहुत कुछ सिख सकते हैं. जीवन के बदलाव को एक नया रूप दे सकता हैं. यहाँ पे कुछ ऐसी ही कहानियों को दरसाने जा रहे हैं जो जीवन को एक नया दिसा दे सकती हैं.

Kahani in Hindi- एक आम इन्सान की कहानी जो वर्कर से जहाज के Captain तक का सफ़र

ये कहानी एक सच्ची प्रेरणा दायक कहानी है जिसे मई खुद जनता हूँ और उसके संक्घरसों को काफी नजदीक से जाना तभी मुझे लगा की उनके जीवनी और संघर्ष को लोगों के सामने जरुर लाना चाहिए. जब मैंने उनके जीवन के संघर्ष को जाना तो मै भी उनके जीवन के कठिन सफ़र को शेयर करने से नहीं रोक पाया. ये कहानी है केन्या के एक गरीब परिवार में जन्मे Captain Omar Bunu की जो बचपन से ही काफी मेहनती थे और अपने काम के प्रति काफी संघर्सिल.

kahani in hindi
kahani in hindi

बचपन में ही उनके परिवार का पूरा भार उन्ही के कन्धों पे आ गया, एक समय ऐसा आया की घर चलाना मुश्किल हो गया. केन्या जैसे देश में वहा पे नौकरी की भी काफी समाश्या थी. Omar Bunu का दिमाग काफी तेज था लेकिन उन्हें स्कूल जाना पसंद नहीं था. वे स्कूल बहुत कम जाते थे लेकिन एग्जाम में सबसे अच्छे मार्क्स लाते थे. सभी बच्चों में उनकी इंग्लिश बहुत अच्छी थी. कैसे भी करके उन्होंने ने अपनी Highschool की पढाई पूरी की.

Kili Paul biography in Hindi

अब उनका मन पढाई में बिलकुल नहीं लग रहा था. उनके एक चाचाजी शिप पे नौकरी करते थे उनको ही देख के इनको भी शिप पे कम करने का जूनून सवार हो गया. अपने चाचाजी को उन्होंने कई बार बोला की उन्हें भी शिप पे कोई भी काम करने के लिए लगा दे. वो कोई भी कम करने को तैयार थे. लेकिन उनके चाचाजी बार बार ये कहके टार देते की अगलीबार बात करूँगा. लेकिन दुबारा जब भी मिलते हमेसा वही बात बोलते.

इधर इन्होने ने तय कर लिया था की कुछ भी हो जाये लेकिन नौकरी शिप पे ही करनी है. उन्होंने धीरे धीरे जानकारियां लेनी सुरु कर दी की मर्चेंट नेवी ज्वाइन करने के लिए किन किन चीजो की जरुरत होती है. जानकारियां लेके उन्होंने अपने Passport बनवाये. उससे रिलेटेड ट्रेनिंग करने के लिए उनके पास पैसे भी नहीं थे. ट्रेनिंग करने के लिए उन्होंने अपने माँ के गहने भी बेच दिए.

मर्चेंट नेवी में ज्वाइन करने के लिए तैयारी

ट्रेनिंग करने के बाद सर्टिफिकेट भी मिल चुके थे. अब वो अपने चाचाजी का इंतजार कर रहे थी की कब आये और फिर से उनको बोले. उनके चाचाजी शिप से आ गए. इन्होने बोला उनसे की सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स निकाल लिए हैं.

उनके चाचाजी इसबार हामी भर लेते हैं और अपने साथ अपने कंपनी में ज्वाइन करने के लिए बोल देते हैं. Omar Bunu रात दिन अपने नए सफ़र के इंतजार में रहते हैं. अब वो अपने चाचाजी के साथ दुबई के लिए चल देते हैं. दुबई पहुचने के बाद उसके चाचाजी अपने साथ उनको कम्लेपनी में ले जाते हैं. वहा उनके चाचाजी रिक्वेस्ट करते हैं की इनको भी किसी शिप पे लगा दे. कंपनी मेनेजर बोलता है अभी कोई वाकान्च्य नहीं है और इन्हें कम का कोई एक्सपीरियंस भी नहीं है. तभी Omar Bunu बोलते हैं सर आप मुझे शिप पे रख लो main फ्री में कम करूँगा जब आपको लगे की मैं काम कर सकता हूँ तब तक मै फ्री में काम करूँगा.

नौकरी के लिए दुबई पहुच जाते हैं

मेनेजर ये सुनके काम देने के लिए राजी हो जाता है. उनको शिप पे एक Seaman का कम मिल जाता है. काफी समय तक करीब ६ महीने तक फ्री में कम करते हैं कंपनी उनका कम देख के उनको प्रमोशन भी देती है और रैंक के हिसाब से सैलरी भी. ये समय उनके जीवन का सबसे खुबसूरत पल था. क्योकि काफी दिनों तक काफी प्रयाश किया. वो अपने काम के प्रति काफी लगन के साथ करते थे.

अपने मेहनत और अच्छे कम के दम पर कंपनी कुछ ही वर्षों में उन्हें Master के तौर पे प्रमोट कर देती है.

निष्कर्ष: हमें कभी भी अपने मनोबल को नहीं तोड़ना चाहिए संघर्ष को जारी रखना चाहिए सफलता जरुर मिलेगी.

Kahani in Hindi – गरीब लकड़हारा

कहानी के इस दुसरे सारांश में बतानेवाले हैं एक गरीब लकड़हारे के बारे में जो काफी मेहनती होता है. एक जंगल के छोटे से गाँव में एक लकड़हारा अपने परिवार के साथ गुजरबसर कर रहा था. रोज जंगले से लकड़ियाँ काटता और उसी से अपना गुजर बसर करता. एक समय ऐसा आया जब कोई भी लकड़ियाँ खरीदने से इनकार कर दिया. अब उसके समझ में नहीं आ रहा था की क्या करे कैसे अपने परिवार का गुजर बसर करे.

Kahani in Hindi - गरीब लकड़हारा
Kahani in Hindi – गरीब लकड़हारा

लकड़हारा की मुश्किलें बड़ती ही जा रही थी. तभी उसके दिमाग में आया ही क्यों न इन लकड़ियों का कुछ बनाया जाये और उसको दुसरों को बेचा जाये. जिससे कुछ पैसे मिल सकते हैं. लकड़हारे ने टेबल और कुर्शियाँ बनने लगा. धीरे धीरे उनके बनायीं कुर्शियाँ और टेबल लोगों को काफी पसंद आने लगी. लोगों की भीड़ ज़माने लगी उनके द्वारा बनाये फर्नीचर को खरीदने के लिए.

नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography in Hindi | Kahani in Hindi

कुछ महीनों बाद उसने शहर में एक बड़ी फर्नीचर की शॉप खोल ली. उसने अपने म्हणत के दमपर कुछ ही दिनों में एक बड़ी कंपनी बना ली जिसके फर्नीचर बड़े बड़े शहरों में बेचे जाने लगे.

निष्कर्ष: मुश्किलों से हार मान जाना येवाली फितरत नहीं होनी चाहिए बल्कि उससे डटकर मुकाबला करना चाहिए और उससे उबरने की कोसिस जरी रखनी चाहिए.

Kahani in Hindi – चींटी और शेर

एक समय की बात है एक जंगल था उसमे बहुत से जानवर रहते थे शेर जंगल का राजा होता है ये सब तो हम लोग जानते ही हैं. इस जंगल में भी शेर का ही राज था. शेर ने अपने से सभी छोटे जानवरों पे काफी अत्याचार कर दिया था. हर दिन किसी न किसी जानवर के बच्चे या उसको शेर का शिकार हो जाना पड़ता था.

शेर के तांडव से सभी जानवर काफी परेसान हो गए थे हर दिन कोई न कोई अपने परिवार के सदस्य को खो रहा था. किसी के भी समझ में नहीं आ रहा था की आखिर क्या क्या जाये कैसे शेर से निपटा जाये. सभी जानवरों में शेर से इतना भय का माहौल हो गया था की उसके नाम से भी लोग डरने लगे थे.

Kahani in Hindi - चींटी और शेर
Kahani in Hindi – चींटी और शेर

एक दिन सभी छोटे जानवरों ने इससे निपटने के लिए एक गुप्त मीटिंग रखने का फैसला किया. इस मीटिंग में लगभग सभी छोटे जानवरों को बुलाने का प्लान तैयार हुआ. मीटिंग सुरु होती है. सभी अपनी अपनी राय पेश करते हैं की शेर को कैसे रोका जाये. तभी जब लोमड़ी का नंबर आया तो लोमड़ी ने कुछ अजीबो और अचम्भाव्वाला तरीका बताया जिसपे सभी जानवर हँसने लगे और लोमड़ी का मजाक उड़ने लगे. लोमड़ी की दोस्ती चीटियों से काफी अच्छी थी और वो जहाँ भी जाता उन्हें अपने साथ ले जाता.

महाराणा प्रताप की जीवनी – Maharana Pratap Biography in Hindi

मीटिंग चल ही रही थी तभी सभी को शेर के आसपास होने का अनुभव हुआ. सभी जानवर काफी दर गए सभी को कुछ समझ नहीं आ रहा था की आखिर क्या किया जाये. तभी लोमड़ी ने कहा किसी को उससे डरने की जरुरत नहीं मुझपे विस्वास करो मैंने ये ट्रिक सही होते हुए अपने आँखों से देखा है. उसने बताया की एकबार वो इसी तरह वो शेर के चंगुल से बचा था. ये सुनके सभी जानवरों को लगा की एक चांस लेने चाहिए और लोमड़ी को ये तरीका आजमाने का मौका देना चाहिए.

अभी यही सब चल ही रहा था की किसका तरीका सही है किसको आजमाना चाहिए तभी अचानक से काफी तेजी से शेर उनकी झुण्ड पे हमला कर दिया. सभी जानवरों में अफरा तफरी मच गयी. सभी अपनी जान बचाने को भागने लगे. लेकिन लोमड़ी नहीं भागी और वो वाही कड़ी रह गयी. ये दृश्य देखकर कुछ जानवर भी उसकी वोर देखने लगे. शेर ये देख के और भी आग बबूला हो गया की सभी उससे दर के भाग रहे हैं लेकिन ये क्यों नहीं भाग रहा.

PARI KI KAHANI|GOLDEN MATKA|SATTA|परी की कहानी PART 4

शेर धीरे धीरे आँखे लाल करके काफी गुस्से में लोमड़ी की तरफ जाता है. तभी लोमड़ी सोचती है ये अब अच्छा समय है अपने तरीके को सही साबित करने को. लोमड़ी अपने दोस्त सबसे जहरीली और विषैली चीटियों को शेर के ऊपर हमले करने को अलर्ट कर देती है. कुछ ही समय में हजारों की संख्या में चीटियाँ शेर के सामने आ जाती हैं. जैसे ही धीरे धीरे शेर आगे बड़ता है तभी सभी चीटियों ने एक साथ शेर पे हमला कर देती हैं. शेरे के पुरे शारीर के हिस्से पे कटना सुरु कर देती हैं और कुछ ही समय में शेर कैसे कैसे वहा से भाग जाता है.

ये पूरा दृश सभी जानवर देखते रहते हैं और देख के काफी आश्चर्य चकित होते हैं. जो लोमड़ी का मजाक उदा रहे थे की चिन्ति का हमें शेर से बचाएंगी तो आज उन्होंने अपने आँखों से देखा. तभी से सभी लोमड़ी को एक चारुर लोमड़ी कहने लगते हैं और उसे अपने गुट का राजा मन लेते हैं. इतना सब होने के बाद उनके एरिया में काफी दिनों तक शेर ने आने की कोसिस नहीं की और वो सेफ रहे.

PARI KI KAHANI | GOLDEN MATKA | परी की कहानी PART 3

निष्कर्ष: कभी भी किसी को छोटा नहीं समझना चाहिए, कभी कभी छोटे भी बड़े काम कर देते हैं जिसे बड़े भी नहीं कर पाते.

Kahani in Hindi – अपने अन्दर की काबिलियत को पहचानना

Kahani in Hindi ये इस सारांश में एक ऐसे इन्सान की कानी के बारे में बतानेवाले हैं जिसने म्हणत के दम पर उसने अपने परिवार शहर या देश ही नहीं उसने पूरी दुनिया में नाम कमाया. एक साधारण से परिवार में एक शार्दुल नाम का बालक जिसे बचपन से ही खेल में काफी रूचि थी. लेकिन हमारे तो आप जानते ही हैं बच्चा जब पैदा होता है तो ३ मुख्य शब्द होते हैं बीटा या बेटी बड़े होकर इंजिनियर डॉक्टर या अधिकारी बनेंगे.

ऐसा ही कुछ शार्दुल के साथ भी हुआ माँ बाप चाहते थे की बेटा इंजिनियर बने. लेकिन शार्दुल का दिमाग इंजिनियर बनने में नहीं था वो एक अच्छा खिलाडी बनना चाहता था जो आगे जेक पुरे देश का नाम रोशन करना चाहता था. शार्दुल एक अच्छा हॉकी प्लेयर था वो कॉलेज टाइम से ही काफी अच्छा हॉकी खेलता था. लेकिन जब भी अपने फॅमिली से बोलता की मुझे हॉकी खेलना है और इसी में अपना करियर बनाना है. तो उसके पेरेंट्स माना कर देते और बोलते नहीं तुझे इंजिनियर बनना है.

GOLDEN MATKA | मटका | PARI KI KAHANI | परी की कहानी PART 2

उसके परिवार वालों ने इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन तो करवा दिया लेकिन उसका उसमे मन नहीं लगता था. एक दिन उसे पाता चला की उसके कॉलेज में राज्य स्तरीय हॉकी टूर्नामेंट होनेवाला है और उसमे कॉलेज के कुछ अच्छे स्टूडेंट्स को सेलेक्ट करना है इस टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए. शार्दुल को जैसे ही इसके बारे में पाता चला उसने तुरंत प्रिन्सिप्ले के पास जाकर उसने अपने बारे में बताया और अपने द्वारा जीते इनाम और सर्टिफिकेट को भी दिखाया. प्रिन्सिप्ले ने बोला ठीक है फाइनल सिलेक्शन के लिए तुम्हारा नाम भी लिस्ट में ऐड कर देते हैं.

शार्दुल बहुत खुश होता है और रातभर केवल उसी के बारे में सोचता है और सुबह जल्दी उठकर exercise में लग जाता है. अंततः उसका टीम में सिलेक्शन हो जाता है. पहलीबार वो ऐसे किसी बड़े टूर्नामेंट में खेलने जाता है. उसके राज्य टीम में सिलेक्शन होता है. तौनामेंट की सुरुवात होती है दुसरे दिन उसका मैच रहता है. शार्दुल एक अटैकिंग खिलाड़ी होता है. मैच में उसकी टीम काफी पिछड़ जाती है.

अंतिम समय में शार्दुल ने अपने दमपर ताबड़तोड़ ३ goal किये. और मैच को जितवा दिया. पुरे टूर्नामेंट में शार्दुल ही छाया रहा और उसकी टीम ने राज्यस्तरीय टूर्नामेंट ट्राफी को अपने नाम कर लिया. Man ऑफ़ the मैच सीरीज का तमगा भी शार्दुल ने ही हासिल किया. इस तरह से शार्दुल की एक नयी जिंदगी की सुरुवात होती है.

मटका | GOLDEN MATKA | PARI KI KAHANI | परी की कहानी

हॉकी के खेल में चमकते सितारों में शार्दुल का भी नाम जुड़ गया. आनेवाले हर बड़े टूर्नामेंट के लिए उसको सेलेक्ट किया जाता और और वो उसमे काफी अच्छा प्रदर्शन करता और टीम की ओर आकर्षित करता. अब शार्दुल की किस्मत बदलनेवाली थी. उसको नेशनल टीम में सिलेक्शन कर लिया गया.

शार्दुल को अपना पहला मैच विदेश में खेलने का मौका मिला. उसने अपने पहले ही मैच में जबरदस्त खेल की बदौलत बेस्ट प्लेयर की ट्राफी अपने नाम किया. पुरे इंटरनेशनल तोर्नामेंट में उसने काफी अच्छा प्रदर्शन किया. शार्दुल ने केवल सपना भर देखा था की वो नेशनल टीम की तरफ से खेलने का मौका मिलेगा.

बेटे को खेल में इतना आगे बड़ता देख उसके माँ बाप की भी सोच बदल गयी. अपने बेटे पे प्राउड करने लगे. आगे जाके शार्दुल ने अपने देश की तरफ से काफी मैच खेले और खूब नाम कमाया अपने खेल के बदौलत.

निष्कर्ष: अपने अन्दर की काबिलियत को पहचानना चाहिए और उसपे ही ज्यादातर फोकस करना चाहिए. क्योकि अगर हम जिस चीज में अच्छे हैं उसमे काफी जल्दी और आसानी से मंजिल प् सकते हैं.

Kahani in Hindi – सपनो का शहर

कई सौ साल पहले की बात है Kahani in Hindi में इसी कड़ी में एक ऐसे राजा के बारे में बतानेवाले हैं जितने लोगों के जीने की शैली को ही बदल कर रख दिया. ये कहानी है Egypt के एक सबसे छोटे और सबसे आधुनिक शहर के बारे में जिसे उस समय का दुनिया का सबसे आधुनिक शहर कहा जाता है. उस समय दुनिया के ज्यादातर देशों में राजशाही लोगों का वर्चस्व था. उसी एक ऐसा भी राजा था जिसने अपने प्रजा को हमेसा ही खुश देखना चाहा. और हमेसा कोसिस की की उसकी प्रजा की जीवन सैली कितनी अच्छी और आधुनिक की जाये.

राजा हर महीने अपने प्रजा की हालचाल लेने लोगो के बिच जाते और उनकी दिक्कतों के बारे में पुचते और उनको जल्द से जल्द दूर करने की कोसिस करते. काफी समय हो गए राज्य को ऐसे ही चलते एक दिन उनके दिमाग में आया क्यों न अपने नगरों को एक नया रूप दिया जाये जिसमे लोगों के लिए लगभग सभी सुविधाएं मौजूद हों. राजा ने अगले दिन अपने मंत्रियों की एक बैठक बुलाई. बैठक सुरु होते है उन्होंने अपने मंत्रियों से बोला हमने नगरों को एक नए रूप और आधुनिक बनाने के बारे में सोचा है. इसके लिए काफी धन और जीवन में उपयोग आनेवाली आधुनिक चीजों की आवश्यकता होगी.

राजा ने इस स्कीम का नाम दिया “सपनों का शहर” और अपनी मंत्रयों से कहा ऐसे लोगों को चुनों जो एक आधुनिक कार्य का नुमुना पेश कर सके ऐसे लोगों को कम से साथ साथ एक अच्छी इनाम राशी भी दी जाएगी. मंत्रियों अगले ही दिन से कम सुरु कर दिया और ऐसे लोगों की तलाश में लग गए. कुछ दिनों बाद मंत्रियों ने ऐसे सौकड़ों लोगो को खोजा जो कुछ न कुछ एक आधुनिक और नया बनाने की कोसिस की है. कुछ दिन बाद लोगो को राजा ने अपने महल में आमंत्रित किया और उनके कौसल को देखने की बात कही.

Indian President Draupadi Murmu – द्रौपदी मुर्मू

सभी लोग राजा के राजमहल में अपने कौसल को दिखने के लिए आते हैं. राजा ने सभी के कौसल को देख के काफी ख़ुशी मिली अपने अपने स्कीम को पूरा करने में सबसे बड़ी बाधा को भी दूर किया उसके सभी डाउट लगभग क्लियर हो गए. राजा ने सभी के कौसल को देख के उनको इनाम दिया और उनको अपने स्कीम में सामिल भी किया और कम के बदले अच्छी रकम देने का भी वादा किया. सभी कारीगर लोगो ने भी हामी भर दी.

राजा को सबसे बड़ी दिक्कत आनेवाली थी धन की क्योकि शहरीय रूप और आधुनिक कारण के लिए काफी पैसा खर्च होने वाले थे. राजा ने अपने राजशाही खर्चों को कम करने का फैसला किया जिससे इस स्कीम को आसानी से पूरा की जा सके. कुछ महीनों बाद सभी जरुरी सामान इक्कठा कर लिया गया. एक नयी जगह को खोजा गया जो नदी या ऐसे जगह हो जहा पानी की कमी ना हो. एक नदी के किनारे ऐसे जगह को चुना गया. राजा ने जल्द ही कम सुरु करने का आदेश भी दे दिया

काम सुरु हो गया. राजा ने एक ऐसी कुचल टीम चुनी थी जिनके अन्दर एक आधुनिकता दिखाई दे रही थी. उन्होंने ऐसी आधिनिक इमारते बनानी सुरु कर दी जिसे पहले सायद ही किसी ने देखा रहा हो. ये सब मुमकिन हो रहा था ऐसे कुशल कारीगरों की वजह से. एक आधुनिक शहर के सामने राजा का महल भी एकदम फीका नजर आ रहा था. राजा को ऐसे आधुनिक सहर को बनता देख एक सपना सा लग रहा था.

CHHOTU DADA KI KAHANI IN HINDI | छोटू दादा KI STORY | MOTIVATIONAL STORY

वो ऐसे कुशल कारीगरों के वजह से ही मुमकिन हो पा रहा था. राजा ने सभी कारीगरों की सैलरी भी बड़ा दी. देखते देखते आधा शहर तैयार हो गया. लोग भी ऐसे आधुनिक शहर को देखने के लिए काफी उत्सुक थे. धीरे धीरे ये बात दुसरे राज्यों के राजाओं तक पहुच गयी. कुछ ने तो अपने यहाँ भी ऐसे शहर बनवाने का आदेश दे दिया. काफी महीनों बाद आखिर वो घड़ी आ ही गयी जिसक सबको बेसब्री से इंतजार था. शहर एक नए और आधुनिक सुविधाओं के साथ बनकर तैयार हो गया.

राजा ने एलान कर दिया की इस शहर के सबसे अच्छे घरों में इस शहर को बनानेवाले कारीगरों को ही सौपा जायेगा. और हजारों लोगों को नया घर दिया जायेगा जो अपने जीवन की एक नयी सुरुवात करेंगे. १० दिन बाद राजा ने हजारों लोगो के एक नया और बिलकुल आधुनिक शहर उनके हवाले कर दिया. इस शहर की चर्चा उनके देश ही नहीं दुनियाभर में होने लगी.

राजा यही तक नहीं रुके वो आगे जाके और भी ऐसे कई आधुनिक शहरों का निर्माण करवाए जिससे हजारों लोगों की जीवन शैली बदल गयी. राजा ने अपने लोगों के लिए उनकी जीवन शैली को आरामदायक और एक सिंपल बनने की कोसिस की. इन्ही के बनाये गए शहरों को देख के दुसरे राज्यों के राजा भी प्रोत्साहित हुए और वैसे सहरों का निर्माण करने लगे.

हीरे की अंगूठी | DIAMOND RING STORY IN HINDI

निष्कर्ष: Kahani in Hindi के सभी सारांश स्टोरी ज्यादातर एक सोच के लिखी हुई बिलकुल नयी कहानियां हैं. ऐसी कहानियों को पड़ने के बाद हमें भी एक नयी दिशा मिलती है. इनमे सभी कहनियों को आसानी से समझने के लिए Kahani in Hindi में दर्शाया गया है जो सभी को काफी पसंद आया होगा. निरंतर ऐसी Kahani in Hindi लिस्ट को अपडेट करते रहेंगे जिससे पाठकों को Kahani in Hindi में एक नया अनुभव मिले.

Love Shayari WhatsApp: True Love Status, बेस्ट लव शायरी President Draupadi Murmu -New President of India Cruise Ship Job-दुनिया की कुछ अद्भुत तस्वीरें Sea side EMMY nominations 2022: Full list Hindi Love Shayari ! लव शायरी ! Lovely Shayari In Hindi – imHind