जादुई झरना (Motivational Story)

ये कहानी है जादुई झरने की motivational story. ये Motivational story में कैसे किसी की जिंदगी बदल जाती है. इस Motivational story में मैजिक और सस्पेंस सभी देखने को मिलते हैं. इस Motivational story से बहुत कुछ सिख सकते हैं. एक बार की बात है एक किसान अपने परिवार का पालन पोसन करने में असमर्थ था. परिवार की आर्थिक हालत काफी ख़राब थी. खेती भी उतनी ज्यादा नहीं थी की वो अपना परिवार चला सके. दुखी होकर उसने बहुत बड़ा फैसला लेने का सोचा। उसने प्रण कर लिया की जब तक वो कुछ अपने परिवार को अच्छा चलाने लायक न बन जाये तब तक वो घर नहीं आएगा.

Motivational story

Moral story in hindi

तभी वो घर से निकल गया. आगे जाते जाते एक जंगल आ गया. उसे रास्ता नहीं पता था और उसे ये भी नहीं पता था की उसे कहा जाना है. उसने जंगल में ही जाने का सोच लिया। जंगल में नदी बड़े अनोखे जानवर देख के काफी डरने लगा था. तभी एक भालू उसकी तरफ आने लगा और किसान उसे देख के भागने लगा और छिपाने की जगह खोजने लगा.

भागते भागते उसे एक बहुत बड़ा पेड़ दिखाई दिया। उस पेड़ के आसपास बहुत सी घनी झाड़ियां थीं. किसान उन्ही झाड़ियों की तरफ जाने लगा. और उस बड़े पेड़ पे चढ़ गया. पेड़ के सबसे ऊपर टहनी पे चढ़के वो अपने गाओं को देखने की कोशिश कर रहा था लेकिन. उसे जंगल के सिवाय कुछ नहीं दिखाई दे रहा था.

किसान और भी घबड़ा गया की अब क्या करेगा इस घने जंगल में. उसे तो जानवर खा जायेंगे. ये सब सोच के वो उस पेड़ से निचे नहीं उतर रहा था. उस पेड़ से जंगल का हर हिस्सा दिखाई दे रहा था. पेड़ के आसपास शेर और दूसरे खूंखार जानवर भी घूम थे. किसान को समझ में नहीं आ रहा था की वो क्या करे.

अब वो सोच रहा था की उसने जंगल की तरफ आ के बहुत बड़ी गलती कर दिया। अब तो वो सोच लिया था की उस जंगल से वापस दुबारा अपने गाओं नहीं जा पायेगा और अपने परिवार से भी नहीं मिल पायेगा. भालू उस आदमी को देख रहा था और वो वही बैठा था. उसके इंतजार में. लेकिन किसान डरके मरे निचे नहीं उतर रहा था.

Motivational story in hindi

तीन दिन हो गए उसे पेड़ पे बैठे बिना खाये पिए. तभी भालू ने सोचा की ये आदमी उसका दर रहा है तभी वो वहां से चला गया. किसान ने सोचा अब यही मौका है वह से भागने का. तब किसान धीरे धीरे पेड़ से निचे उतर गया. जिअसे किसान पेड़ से निचे उतर के धीरे धीरे आगे बढ़ाने लगा.

तभी भालू वह पे आ गया अचानक से। किसान उसे देख के गया तभी भालू ने उस किसान से बोलै डरो मत मित्र मई तुम्हे कुछ नहीं करूँगा. तभी ये सुन के किसान को थोड़ा राहत मिली. भालू बोलने लगा तुम हमारे जंगल में कैसे आ गए. किसान ने बोला की वो अपने परिवार को चलाने में असमर्थ था इसलिए वो निकल गया और कुछ अच्छा करने की तलाश में जंगल में भटक गया.

और उसे उसका गांव भी नहीं दिखाई दे रहा है. वापस गाओं भी नहीं जा सकता. ३ दिन से kuch खाया भी नहीं. तब भालू बोलता है ठीक है अब तुम टेंशन न लो मै तुम्हारी मदद करूँगा. चलो मई तुम्हे कुछ फल खिलता हूँ तुम्हे बहुत पसंद आएंगे. किसान थोड़ा दर भी रहा था लेकिन उसे पास दूसरा और की विकल्प नहीं था. और मन ही मन थोड़ा खुश भी था की ये भालू मेरी परेशानियां समझ सकता है.

Moral story in hindi

भालू ऐसे जंगल की तरफ ले गया जहाँ पे ज्यादातर फलवाले पेड़ थे. आम, अमरुद, अंगूर, सेब और बहुत प्रकार के फलवाले पेड़ थे. किसान को फल काफी पसंद आये. उसने खूब फल खाये। भालू बोला मई तुम्हे रहने के लिए सुरक्षित जगह बताता हूँ. वहां रह सकते हो. किसान धीरे धीरे जंगल में जानवरों के साथ रहने लगा. धीरे धीरे उनकी भासा भी समझने लगा.

उधर उसका परिवार काफी परेशान था. की बिना बताये कहा चला गया. काफी दिन बीत गए. एक दिन भालू बोला तुम अब हम लोगों के साथ परिवार की तरह जुड़ गए हो. चलो मई तुम्हे एक बहुत अच्छी चीज दिखाता हूँ तुम्हे जरूर पसंद आएगा. भालू उसको एक ऐसी जगह ले जा रहा था जहा उसकी किस्मत बदलनेवाली थी.

किसान भालू से पूछता है की आखिर तुम मुझे कहा ले जा रहे हो. भालू बोलै तुम्हे वहां जाने के बाद ही समझ में आ जायेगा. तभी किसान को एक रोशनी दिखाई देने जहां से ढेर सरे पछियों की आवाजे आ रहीं थी. वो जैसे थोड़ा और करीब आया तो वहां के पेड़ सोने जैसा चमक रहे थे. थोड़ी और आगे जाने पे उसे उचाई से गिरता हुआ दिखाई देने लगा. लेकिन पानी की बुँदे जो थी चमक रही थी.

जैसे ही वो वहां पंहुचा वहां बहुत से झरने थे जहाँ से पानी गिर रहा था. वहां के आसपास ऐसा माहौल था जैसे ये धरती का स्वर्ग हो. आसपास से अच्छी अच्छी सुनाई दे रही थी. जानवर वह पे अलग ही दिखाई जैसे जनवरों की एक नयी दुनिया हो.

Kids stories in hindi

जैसे ही वो झरने की किनारे पहुंचा वह उसे जरने के ऊपर बीचों बिच एक शेर बैठा हुआ था. जो गले में सोने के हर और बहुत से जेवर पहने हुए थे. उसके सरीर सोने जैसे चमक रहे थे. उसने किसान को देखते ही उसका स्वागत किया और बोलै आपका  हमारे धरती के स्वर्ग में स्वागत है. किसान को ये सब नजारा देख उसे विश्वास ही नहीं हो रहा था. की वो सच में जानवरों के स्वर्ग में पहुंच गया है. और ये भी सोच  जब जानवरों का स्वर्ग इतना अच्छा है तो हमारा स्वर्ग कैसा होता होगा.

तब भालू बोलता है की यहाँ आना सबके नहीं है बहुत किस्मतवाले ही यहाँ पहुंचते हैं. तुम बहुत किस्मतवाले हो. हमें भी यहाँ आना नसीब नहीं होता लेकिन मै सभी जानवरों से सबसे अलग हूँ. इसलिए सबसे पहले मुझे ही आने का मौका मिला था. यहाँ एक अलग ही नजारा होता है. अभी तो है आगे तो क्या क्या तुमने जिंदगी में सोचा होगा अनुभव मिलेंगे.

भालू बोला सबसे पहले इस झरने के पानी के स्नान से सुरु करो एक अनोखा होगा. किसान बोलै ठीक है मुझे कई दिन हो गए नहाने का. वो उस झरने में जैसे ही अंदर की तरफ जाने लगा वैसे वैसे वो गहरायिओं में जाने लगा. भालू भी उसके साथ जा रहा था. भालू बोलै डरो मत तुम इस पानी में डूबने के बाद भी तुम्हे कुछ होगा. वो और भी आगे जाते वो पानी के निचे चलता गया.

Motivational Story

निचे का भी अनोखा था ठण्ड भी नहीं लग रहा था और नाही ही गरम यहाँ तक पानी भी मुँह में नहीं जा रहा था. तभी भालू ने बोला यहाँ सब तुम्हारी इच्छाओं अनुरूप होगा. तुम अपने सोचोगे वो होगा इस जादुई पानी अंदर. तब उसने में ऐसा होगा. भालू ने केवल सोच के तो देखो. किसान ने सोचा की यहाँ पे एक सुन्दर सा बेड हो जहाँ पे अच्छे से सो सकूँ. ऐसा सोचते उसके समीप एक अच्छा सा बेड आ गया.

ये देख उसकी आँखों पे विश्वास नहीं हो था. तब उसने सोचा की उसके आसपास परियां आ जाएँ. ऐसा सोचते ही उसके बेड के चारों तरफ परियां आ गयीं. तब भालू ने बोला की ये सब खुशियों का एक सिमित समय तक ही साथ रहेंगे. जब तक झरने का पानी आता रहेगा.

किसान काफी एन्जॉय किया तब उसके दिमाग में अच्चानक से ख्याल आया की क्यों न वो अपने परिवार को भी इन खुशियों में शामिल कर ले. और अभी वो उसके पास आ जाये. ऐसा सोचते ही उसका पूरा परिवार उसके सामने आ गया. उसे विश्वास नहीं हो आँखों पे. तभी उसके बच्चे बोल रहे हैं पिताजी हम लोग ये कहा आ गए और आप भी यहाँ कैसे ये सब तो बहुत ही खूबसूरत है.

Honesty stories in hindi

तब उसने अपने परिवार को पूरी कहानी सुनाया. अब किसान के दिमाग में ये चल रहा था की क्यों ना वो अपने पुरे परिवार के साथ फिर से चला जाये। उसके ऐसा सोचते ही वो अपने पुरे परिवार के साथ अपने गाओं पहुँच जाता है.

कहानी का अगला भाग आनेवाले दूसरे पोस्ट में बताएँगे. तब तक हमारे ब्लॉग के साथ जुड़े रहे ऐसे ही अच्छी कहनायों और जरुरी जानकारियों के लिए.

Read more:-

Jinn ki kahani in hindi