Indian President Draupadi Murmu – द्रौपदी मुर्मू

Draupadi Murmu भारतीय राजनीती की एक उभरती हुई बड़ी नायिका. जिसने नारी जगत में एक बड़ा उदहारण पेश किया है. Draupadi Murmu ने साल १९९७ में राइरंगपुर Nagar Panchayat के पार्षद चुनाव में जीत दर्ज कर के की. इन्होने भाजपा के अनुसूचित Janjati मोर्चा के उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया है. भाजपा के तरफ से President Draupadi Murmu बनने का भी मौका मिला जो इनके राजनीती का सबसे बड़ा दिन है.

व्यक्तिगत जीवन

जन्म (DOB): 20 जून 1958 (आयु 64)
Mayurbhanj , उड़ीसा, India
राजनीतिक दल: भारतीय जनता पार्टी
जीवन संगी: Shyamcharan Murmu
बच्चे: 3
शिक्षा: रमा देवी महिला विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर
पेशा: राजनीतिज्ञ

Draupadi Murmu ने अपने सुरुवाती शिक्षा अपने गृह जनपद से की थी, इसके बाद शिक्षा पूरी करने के बाद भुबनेश्वर स्थित रमा देवी महिला विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक की डिग्री पूरी की. अपनी पढाई पूरी करने के बाद शिशक बनने में रूचि दिखाई अपने अपने काररीएर की सुरुवात की. कुछ समय तक इन्होने शिक्षक के तौर पे कम किया.

द्रौपदी मुर्मू का जीवन संघर्ष

Draupadi Murmu का सुरुवाती समय काफी कष्टदायी भरा रहा . शादी होने के बाद उनके २ बच्चे हुए लेकिन कुछ साल बाद दोनों का निधन हो गया . कुछ समय बाद उनके पति Shyamcharan Murmu ने भी उनका साथ छोड़ दिया और पंचतत्व में विलीन हो गए. पति का साथ छुटने पे द्रौपदी मुर्मू को काफी बड़ा धक्का लग गया. जो वो समय उनके जीवन के सबसे कठिन समय थे. उनसे उभरना काफी मुश्किल था.

Draupadi Murmu का राजनीतिक करियर

इन्होने अपने राजनीती करियर की सुरुवात उड़ीसा से भाजपा पार्टी के साथ जुड़कर किया. इनके राजनीती का सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट तब आया जब १९९७ में रायरंगपुर Nagar Panchayat के पार्षद चुनाव में हिस्सा लिया और अपनी जीत भी दर्ज की. ये २००० से २००२ तक उड़ीसा वाणिज्य और परिवहन स्वतंत्र प्रभार Minister भी रह चुकी हैं. और २००२ से २००४ तकमत्स्य पालन और पशु संसाधन विकास Rajy Mantri रह के भी काम कर चुकी हैं.

नरेंद्र मोदी की जीवनी – Narendra Modi Biography in Hindi | Kahani in Hindi

Leave a Comment